पृथ्वी का कोर इतना गर्म क्यों है? Why earth's core so hot in hindi

दोस्तो आप जानते ही होंगे कि पृथ्वी का कोर सूरज कि सतह जितना गर्म है। पर क्या आप जानते हो की ये इतना गर्म क्यों है। या 4.5 बिलियन वर्ष पुरानी पृथ्वी आज भी इतनी गर्मी कैसे पेदा कर पा रही है। क्यों कि ये गर्मी थोड़ी बहुत नहीं है, ये 5,000+° Celsius तक कि गरमी कोटिन्यू पैदा कर रही है। ओर सायड आप जानते हो की पृथ्वि पर आज तक एसी कोई धातु डिस्कवर नहीं कि है को 5000+ पार कर के भी पिग्ले ना। तो आख़िर पृथ्वी का इतनी गर्मी पैदा करने के पीछे का राज क्या है। आइए जानते है आसान भाषा में। 


पृथ्वी के अंदर इतनी गरमी होने के पीछे तीन तर्क दिए जाते है। 

>>> प्रेशर
>>> कॉलिजन/Collusion
>>> Radioactive decay / रेडियोएक्टिव क्षय / रेडियोएक्टिव सड़न

--> प्रेशर: ये कारण इतना वाजबी नहीं लगता। लेकिन हा, इस कारण से पृथ्वी के अंदर का तापमान बढ़ सकता है या बढ़ा है। 

सिम्पल शब्दो में कहे तो हमारी पृथ्वी बहुत ही बड़ी है। जिस वजह से इसके बहारी क्रस्ट का फोर्स कोर मे बहुत पड़ता है। इस वजह से कोर का तापमान भी बढ़ ने लगता है। पर इस वजह से इतना भी कुछ टेंप्रेचर नहीं बढ़ जाता कि earth के कोर का तापमान सूरज के बाहरी सतह जितना गर्म हो जाय। 

--> कॉलिजन/Collusion : तो दूसरा रीजन दिया जाता है collusion को। जब earth का निर्माण हो रहा था। तब कई सारी उल्का पिंड पृथ्वि पर आ आ कर गिर रहे थे। इतना ही नहीं एक मंगल ग्रह के आकर का एक ग्रह भी टकराया था। जिस वजह से चांद को निर्माण हुवा था। तो जब ये बड़े बड़े प्लानेट ओर उल्कापिंड पृथ्वी से कंटिन्यू टकरा रहे थे जिस वजह से बहुत ही बड़ी मात्रा में हिट उत्पन हो रही थी ओर उस हिट कि वजह से पूरा प्लानेट लावा कि तरह पिगल चुका था। 

बाद ने कुछ समय बीतने लगा ओर ये टकराव कम होने लगा जिस वजह से पृथ्वी के बहार का तापमान कम पड़ने लगा ओर पृथ्वी वापिस ठोस बन ने लगी। लेकिन अंदर कि गरमी अंदर ही रहे गई वो कभी बाहर नहीं आपाई ओर इस वजह से पृथ्वी का कोर आज भी गरम है। तो ये तो हुई दूसरी वजह अब तीसरी वजह क्या है, आइए देखते है।

--> Radioactive decay / रेडियोएक्टिव क्षय / रेडियोएक्टिव सड़न: अब ये Radioactive decay क्या है, तो दरसअल Radioactive decay जो हेवी atom होते है वो अपने आप टूट ने लगते है जैसे कि यूरेनियम हो गया वो हिलिम ओर यूरेनियम मे टूट ने लगता है। ओर इनके टूट ने से काफी ज्यादा हिट भी पैदा होती है। इसी प्रिंसिपल पे हमारे एटॉमिक बॉम्ब भी बेस होते है। ओर आप जानते ही होगे कि को कितनी हिट पैदा करते है। 

तो हमारा earth का जो कोर है वो भी मोस्टली बना है, इसी हेवी मेटल से जिस मे यूर नियम भी बहुत ज्यादा है। इस रेडियोएक्टिव decay कि वजह से आज भी पृथ्वी के कोर मे हिट पैदा है रही है, ओर वो कोर को ठंडा होने से रोकती है। 

तो अब आप सोच रहे होगे चलो ठीक है इस वजह से पृथ्वी का कोर गर्म है पर क्या इस गमी कि वजह से हमे कोई फायदा मिलते है? तो हा, मिलता है। पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व के बहुत सारे कारणों मेसे एक कारण ये भी है। पृथ्वी का आउटर कोर गर्म है ओर पूरी तरह लिक्विड मे बदल चुका है, ओर वो इनर कोर के चारो ओर बहे रहा है।

इस गति के कारण कन्वेक्शन करंट (Convection currents) उत्पन होता है, जो पृथ्वी का मैगनेटिक फिल्ड बनाता है। ओर मैगनेटिक फिल्ड हमे सोलर फ्लेयर्स से बचाती है। मैगनेटिक फिल्ड पर में ने एक आर्टिकल पहेले से लिख रखा आप को वो जरूर पढ़ना चाहिए। Click here...

तो दोस्तो आप को हमारा आर्टिकल केसा लगा हमे कॉमेंट कर के जरूर बताई ये गा। ओर अपने दोस्तो के साथ भी जरूर शेयर कीजिए गा। थैंक्स...

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ